नमह ने दिलाई देश का नाम इंडिया से भारत करवाने की शपथ

  • डॉ. भीमवार अंबेडकर विचार मंच एवं जन्मोत्सव समिति ने नमह को दिया समर्थन

गाजियाबाद। लोकसभा चुनाव को लेकर सभी प्रत्याशी मतदाताओं के बीच प्रचार में जुटे हैं। रविवार को समाज विकास क्रांति पार्टी के प्रत्याशी नमह ने विजयनगर क्षेत्र में प्रचार किया। इस दौरान उन्हें डॉ. भीमराव अंबेडकर विचार मंच एवं जन्मोत्सव समिति की ओर से समर्थन का आश्वासन भी दिया गया। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने वहां मौजूद लोगों को देश का नाम इंडिया से बदलकर भारत किए जाने तक चुप नहीं बैठने की शपथ भी दिलाई।

रविवार को डॉ. साहब भीमराव अंबेडकर की 133वीं जयंती के अवसर पर नमह विजय नगर की माता कॉलोनी में डॉ. भीमराव अंबेडकर विचार मंच एवं जन्मोत्सव समिति की ओर से आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने समिती को संविधान की प्रतिलिपि भी सौंपी। कार्यक्रम के दौरान नमह ने कहा कि उन्होंने सभी भारतवासियों के गर्व को लौटाने के लिए देश का नाम इंडिया से बदलकर भारत किए जाने की मुहीम शुरु की है। इस मुहिम के तहत उन्होंने 2020 में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। उसके परिणाम स्वरूप ही जी-20 सम्मेलन में भारत की ओर से दुनिया भर के देशों को भेजे गए निमंत्रण पत्र में प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया की प्रेसिडेंट ऑफ भारत अंकित किया गया था। अब केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से भी उनसे याचिका का प्रतिलिपि मांगी गई है, जो उन्होंने उपलब्ध करवा दी है। नमह ने कहा कि देश का नाम इंडिया से भारत करवाने के लिए सभी 140 करोड़ देशवासियों को उनकी लड़ाई में शामिल होना होगा। इस दौरान उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को शपथ भी दिलवाई। नमह ने भी शपथ ली। शपथ में उन्होंने कहा कि हम सभी को शपथ लेनी है कि देश का नाम इंडिया से भारत किए जाने तक हम शांत नहीं बैठेंगे और लगातार संघर्ष करते रहेेंगे। जब तक देश का नाम पूरी तरह से भारत नहीं किया जाता, तब तक देशवासियों का गौरव नहीं लौट सकेगा। उन्होंने कहा कि इंडिया नाम अंग्रेजों का दिया हुआ है, इस नाम से अभी भी अंग्रेजों की अधीनता का आभास होता है, यह एक कलंक है।

डॉ. बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने देश के संविधान का निर्माण किया और अब हमें देश का नाम बदलवाकर देश और अपना गौरव भी वापस प्राप्त करना है। उन्होंने कहा कि यदि वह सांसद बनते हैं तो रोजगार और भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर काम करेंगे। युवाओं को रोजगार दिलवाने के लिए कानून बनाएंगे। अपने ही जिले में हजारों निजी संस्थान हैं, जिनमें स्थानीय युवाओं को रोजगार दिलवाने के लिए कानून बनवाया जाएगा। इसके साथ ही युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी बनाने के लिए काम करेंगे। इस दौरान समिति की ओर से नमह को पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया और उन्हें लोकसभा चुनाव में जीत दिलवाने का संकल्प लिया।

Related Posts

Scroll to Top